Poultry Farm Business Plan

Poultry Farm Business Plan

              Article on

Poultry Farm Business Idea

मुर्गीपालन ब्यवसाय क्या है?

मांस और अंडे की उपलब्धता के लिए मुर्गी और बतख को पालने के व्यवसाय को मुर्गीपालन कहा जाता है। खाद्यान्नों की बढ़ती मांग ने इस व्यवसाय को चार चांद लगाए हैं।

What is poultry business? 

The occupation of chicken and duck for the availability of meat and eggs is called poultry. The growing demand for food grains has made this business a success.

 

मुर्गीपालन ब्यवसाय के लिये शैक्षणिक योग्यता:

इस व्यवसाय में आने के लिए शैक्षणिक योग्यता की अनिवार्यता नहीं होती। फिर भी, एनिमल साइंस और जीव विज्ञान का ज्ञान होना जरूरी है। जो लोग वैटरिनरी साइंस में ग्रेजुएट हैं, वे पोल्ट्री फार्मिंग को व्यवसाय के रूप में चुन सकते हैं।

 Educational qualification for poultry business:

There is no mandatory educational qualification to come to this business. Still, it is important to have knowledge of animal science and biology. Those who are graduates in Veterinary Science, they can choose poultry farming as a profession.

मुर्गीपालन ब्यवसाय के लिये आवश्यक व्यक्तिगत कौशल :

पोल्ट्री फार्म के व्यवसाय में कुछ कौशल होना अनिवार्य हैं। जिनमें से कुछ प्रमुख निम्न हैं-

 पोल्ट्री का ज्ञान हो ,जिसमें मुर्गियों की देखभाल भी शामिल है।

 मुर्गियों के स्वास्थ्य की देखभाल करने का ज्ञान।

 मुर्गियों को बीमारी से कैसे बचाना है, इसकी जानकारी।

 पोल्ट्री व्यवसायी के लिए मेहनती होना जरूरी है।

 पोल्ट्री फार्म के आसपास के इलाके के रखरखाव का ज्ञान हो।

 इस क्षेत्र के व्यवसायी के लिए स्वस्थ होना जरूरी है। उसे अस्थमा और दूसरी सांस संबंधी बीमारी नहीं होनी चाहिए।

Personal skills needed for poultry business:

There are some skills in the business of poultry farm. Some of them are the following: Knowledge of poultry, which includes the care of chickens. The knowledge of caring for the health of chickens Information on how to protect chickens from disease. Poultry practitioner must be diligent.Knowledge of maintenance of the surrounding area of ​​poultry farm is known. The practitioner of this area needs to be healthy. He should not have asthma and other respiratory illness. 

 

सफल मुर्गीपालन से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण सुझाव:

पशुपालन बैज्ञानिकों  के मुताबिक मुर्गियां तभी मरती हैं जब उनके रखरखाव में लापरवाही बरती जाए। मुर्गीपालन में हमें कुछ तकनीकी चीजों पर ध्यान देना चाहिए। मसलन ब्रायलर फार्म बनाते समय यह ध्यान दें कि यह गांव या शहर से बाहर मेन रोड से दूर हो, पानी व बिजली की पर्याप्त व्यवस्था हो। फार्म हमेशा ऊंचाई वाले स्थान पर बनाएं ताकि आस-पास जल जमाव न हो। दो पोल्ट्री फार्म एक-दूसरे के करीब न हों। फार्म की लंबाई पूरब से पश्चिम हो। मध्य में ऊंचाई 12 फीट व साइड में 8 फीट हो। चौड़ाई अधिकतम 25 फीट हो तथा शेड का अंतर कम से कम 20 फीट होना चाहिए। फर्श पक्का होना चाहिए। इसके अलावा जैविक सुरक्षा के नियम का भी पालन होना चाहिए। एक शेड में हमेशा एक ही ब्रीड के चूजे रखने चाहिए। आल-इन-आल आउट पद्धति का पालन करें। शेड तथा बर्तनों की साफ-सफाई पर ध्यान दें। बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित रखना चाहिए। कुत्ता, चूहा, गिलहरी, देशी मुर्गी आदि को शेड में न घुसने दें। मरे हुए चूजे, वैक्सीन के खाली बोतल को जलाकर नष्ट कर दें, समय-समय पर शेड के बाहर डिसइंफेक्टेंट का छिड़काव व टीकाकरण नियमों का पालन करें। समय पर सही दवा का प्रयोग करें। पीने के पानी में ब्लीचिंग पाउडर का प्रयोग करें।

मुर्गा मंडी की गाड़ी को फार्म से दूर खड़ा करें। मुर्गी के शेड में प्रतिदिन 23 घंटे प्रकाश की आवश्यकता होती है। एक घंटे अंधेरा रखा जाता है। इसके पीछे मंशा यह कि बिजली कटने की स्थिति में मुर्गियां स्ट्रेस की शिकार न हों। प्रारम्भ में 10 से 15 दिन के अंदर तक दो वर्ग फीट के कमरे में 40 से 60 वाट के बल्ब का प्रयोग करने से चूजों को दाना-पानी ग्रहण करने में सुविधा होती है। इसके बाद 15 वाट बल्ब का प्रकाश पर्याप्त होता है।

Some important suggestions related to successful poultry :

According to animal husbandry biologists, the chickens die only when their maintenance is negligent. In poultry we should take care of some technical things. When making a broiler form, for example, note that it is far away from the main road outside the village or the city, there is sufficient water and electricity system. Make the form always at the height position so that there is no water congestion. Two poultry farms are not close to each other. The length of the form is from east to west. The height is 12 feet in the middle and 8 feet in the side. The width should be at maximum 25 feet and the shade difference should be at least 20 feet. The floor should be firm. Apart from this, the rules of biological protection should also be followed. Always have a breed chick in a shade. Follow the All-In-All Out method. Focus on cleanliness of sheds and utensils. The entry of outsiders should be barred. Do not allow dog, rat, squirrel, native chicken etc to enter the shed. Burn dead chickens, empty empty bottles of vaccine, periodically follow disinfectant spraying and vaccination rules out of the shed. Use the right drug on time. Use bleaching powder in drinking water.Make the cock-market car away from the farm. Poultry sheds require light 23 hours per day. One hour is kept dark. The motivation behind this is that in case of power cuts the chickens do not suffer from stress. From 10 to 15 days in the beginning, using a 40 to 60 watt bulb in two square feet room, the chickens have the facility of receiving grain seeds. After this, the light of 15 watt bulbs is sufficient.

 

Related Post

One thought on “Poultry Farm Business Plan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *